TRP , TRP kya hai?, TRP कैसे तय होती है , TRP kaise Calculate hoti hai

 नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का हमारे इस ब्लॉग में 

दोस्तों आज मैं आपको इस पोस्ट में TRP के बारे में बताऊँगा की TRP क्या है? TRP कैसे कैलकुलेट करते हैं? या फिर कोई TV चैनल पैसे कैसे कमाता है

दोस्तों TRP शब्द अपने अक्सर TV में सुना होगा। TV में ये कहते जरूर सुना होगा कि TRP में हमारा चैनल या हमारा Show No. 1 है या हमारे चैनल की TRP सबसे ज्यादा आयी है।


तो आइए बात करते है कि TRP क्या होती है? TRP कैसे कैलकुलेट करते हैं और किसी चैनल की TRP के घटने या बढ़ने से उस चैनल पर क्या फर्क पड़ता है।

तो इस ब्लॉग में हम जानेंगे की TRP क्या है? जिसके पीछे सभी चैनल भागते हैं ये कैसे पता चलता है कि किसी शो को या किसी चैनल को कितने लोगों ने देखा है यानी कि TRP कैसे Calculate होती है । चैनल  की TRP सबसे ज्यादा लाने के ये कुछ भी दिखाने को तैयार हो जाते हैं।






TRP क्या है? What Is TRP

  • TRP यानी Television Rating Point जो किसी चैनल या किसी प्रोग्राम की पॉपुलैरिटी के बारे में बताती है। जब आप कोई TV पर प्रोग्राम देख रहे होते है तो प्रोग्राम के बीच मे ads आती है तो उस ads के आने का कारण भी TRP ही होता है। 
  • यानी कि TRP ही किसी निवेशक क्या किसी विज्ञापन कम्पनी को ये समझने में मदद करता है कि उसे किस चैनल पर या किस show में अपनी ads को दिखाना हैं। और चैनल इन्ही विज्ञापन की मदद से पैसे कमाते हैं।
  • चैनल सबसे बड़ा कमाई का जरिया विज्ञापन ही होता है जिनकी मदद से वो पसे कमाते है और ये विज्ञापन किसी चैनल को उसकी TRP के हिसाब से मिलते हैं। ज्यादा trp तो ज्यादा विज्ञापन यानी ज्यादा कमाई ।
  • तो ये सब trp का ही खेल होता है, तो इसीलिए सारे चैनल Trp की होड़ में लगे रहते हैं।

अपने देखा होगा कि सभी shows और चैनल लगातार सस्पेंस बनाते रहते हैं ताकि आप उनके show में बने रहे और ज्यादा देर तक देखें ।


TRP कैसे Calculate होती है? 

  • तो दोस्तो अब आपके मन मे ये सवाल आ रहा होगा कि की ये कैसे पता चलता है कि किसी Show या चैनल की TRP कितनी आयी है। या फिर ये कैसे पता लगता है कि उस चैनल को किसी विशेष टाइम समय मे कितने लोगों ने देखा और कितनी देर तक देखा।
  • दोस्तों अपने एग्जिट पोल के बारे में सुना होगा की एग्जिट पोल में क्या होता है कि कुछ लोगों से पूछा जाता है कि आप किस पार्टी को पसंद करते हैं आप किस नेता को वोट देंगे।
  • तो उसके आधार पे ये अनुमान लगाया जाता है कि उस एरिया में कोन सी पार्टी या कोन से नेता जीतेगा। तो एग्जिट पोल में सीधा पब्लिक से बात करके उनकी पसन्द या ना पसंद पूछी जाती है।
  • इसी तरह TRP कैलकुलेट करने के लिए पब्लिक से ये जाना जाता है कि वो किस show या किस चैनल को सबसे ज्यादा देखते हैं । लेकिन फर्क ये है कि इसमें घर घर जाकर  सीधा लोगों से पूछा नही जाता की आप कोनसा चैनल सबसे ज्यादा देखते हैं।
  • इसमे किसी Device की मदद से ये पता लगाया जाता है कि किसी show या चैनल को कितनी बार या कितनी ज्यादा बार देखा जाता है।
  • एक Device होता है जिसे TRP meter कहा जाता है । ये TRP मीटर लोगों के घरों में उनके TV सेट टॉप बॉक्स में लगाया जाता है। जो ये रिकॉर्ड करता है कि कोनसा परिवार या कितने लोग किस शो को ज्यादा पसंद करते हैं।



हमारे घर मे तो कोई TRP मीटर नही लगा है

अब आप लोगों ले मन मे ये सवाल आ रहा होगा कि हमारे घर मे ऐसा कोई TRP मीटर नही लगा है और न ही कभी लगा है। 

  • आप सही सोच रहे हैं।ये TRP मीटर सभी मे घरों में नही लगाया जाता हैं। कुछ चुनिंदा लोगों के यहां लगाया जाता है जैसे पूरे देश भर में 30-40 हज़ार लोगों के यहां लगा दिया जाता है। 
  • अब जब वो मीटर लगा दिया जाता है तो वो ये बताता रहता है कितने लोग किसी show को कितनी देर तक या कितनी बार देखते हैं।

तो TRP meter की मदद से ये कैलकुलेट किया जाता है किस शो की TRP कितनी होगी। TRP मीटर की मदद से ही सभी show की TRP कैलकुलेट की जाती है। यानी जिस  शो को ज्यादा बार या ज्यादा टाइम तक देखा जाता है तो उस चैनल या show की TRP सबसे ज्यादा होती है।

क्या इसमे Privacy का खतरा नही होता?

अब शायद आपके मन मे ये सवाल आ रहा होगा की कोई अपने घर में ये मीटर क्यों लगवायेगा इसमे प्राइवेसी का खतरा भी हो सकता है। 

बिल्कुल सही सोच रहे हो।

  • जैसा कि मैंने अपको बताया कि ये मीटर कुछ चुनिंदा लोगों के यहाँ लगाया जाता है । उनके बिल में कुछ छूट दे दी जाती है क्या कुछ आतिरिक्त सुविधाएं दी दी जाती हैं। 
  • और वैसे भी किसी को कोई ज्यादा फर्क नही पड़ेगा कि किसी को पता लगे कि वो कोनसा न्यूज़ चैनल या कोई Show कितना देख रहा है। इसमें Privacy का खतरा नही होता।तो TRP मीटर ही कैलकुलेट करके बताता है कि किस Show या चैनल को कितनी TRP मिली है।


तो अगर किसी चैनल या किसी show की TRP सबसे ज्यादा आयी है तो निवेशक या विज्ञापन कम्पनी उसी चैनल में सबसे ज्यादा पैसा लगाएंगे और उस चैनल को सबसे ज्यादा विज्ञापन मिलेंगे क्योंकि Advertiser(विज्ञानप देने वाले) भी यही चाहेंगे कि हमारा प्रोडक्ट की जानकारी ज्यादा लोगों तक पहुँचे ज्यादा से ज्यादा लोग हमारा विज्ञापन देखे क्योंकि अगर ज्यादा से ज्यादा लोग अगर हमारी विज्ञापन देखेंगे तभी तो हमारा product सबसे ज्यादा बिकेगा यानी जिस चैनल को सबसे ज्यादा लोग देखते हैं उसी चैनल को विज्ञापन सबसे ज्यादा मिलते हैं।


अब वे जरूरी नही है कि किसी चैनल को सबसे ज्यादा लोगों ने देखा  है तो  उसकी TRP सबसे ज्यादा होगी ये भी हो सकता है कि किसी चैनल को कम लोगों ने देखा है तो भी उसकी TRP ज्यादा होगी।TRP किसी चैनल के Watch Time पर भी Depend करती है अगर किसी चैनल को कम लोगों ने देखा है लेकिन जितने लोगों ने भी देखा है उनका औसत समय उस चैनल पर बिताया गया सबसे ज्यादा है तो उस चैनल की TRP ज्यादा होगी।


जैसे एक उदाहरण से समझाता हुँ

ChannelPeopleAverage View Duration Per PersonTotal Watch Time
X1030 Min300 Min
Y2010 Min200 Min


  • जैसे इनमे चैनल X को कम लोगों ने देखा लेकिन उनका औसत समय ज्यादा है  जिसकी वजह से चैनल X का Total Watch Time सबसे ज्यादा है तो चैनल X की TRP चैनल Y से ज्यादा होगी।
  • तो जिस चैनल या Show पर लोगों ने सबसे ज्यादा टाइम दिया है उस Show में विज्ञानप भी उसी के हिसाब से आएंगे। तो अब आपको समझ आ गया होगा की TRP के लिए सिर्फ View Matter नही करता बल्कि Watch Time भी Matter करता है। 
  • अगर अपने कोई चैनल सिर्फ 10 Sec तक देखा है तो वो  Nomber of view में तक Count हो जाएगा लेकिन Watch time तो उस View का सिर्फ 10 Sec आया।


तो उम्मीद करता हु आपको समझ आ गया होगा कि 

TRP क्या है

TRP कैसे Calculate होती है? 

Tv चैनल कैसे पैसे कमाते हैं?

अगर आपको हमारा ये पोस्ट अच्छा गया हो तो इसे शेयर जरूर करें और अपने प्यारे प्यारे कॉमेंट कॉमेंट बॉक्स के जरूर लिखे


धन्यवाद

Post a Comment

Previous Post Next Post